menu
Back
Hadding

 

रिंगस सम्‍मेलन : 23 सितम्‍बर, 1960

 

            त्‍यागमूर्ति स्‍वर्गीय श्री आत्‍मारामजी 'लक्ष्‍य' की पुण्‍य स्‍मृति में सीकर निवासी श्री मूलचन्‍द मौर्य, अध्‍यक्ष व मन्‍त्री श्री कालूराम कुलदीप, राजस्‍थान रैगर सुधार संघ के सतत् प्रयत्‍नों से भाद्रपद में भेरूबाबा के मेले के शुभावसर पर रींगस में एक दिनांक 23 सितम्‍बर, 1960 को एक विशाल सम्‍मेनल का अयोजन हुआ जिसमें महासभा की ओर से एक शिष्‍टमण्‍डल ने भाग लिया जिसमे सर्व श्री स्‍वामी ज्ञानस्‍वरूप जी महाराज, स्‍वमी रामानन्‍द जी जिज्ञासू, स्‍वामी गोपालराम जी महाराज, चौ. कन्‍हैयालाल जी रातावाल, चौ. पदमसिंह सक्‍करवाल, चौ. ग्‍यारसाराम जी चान्‍दोलिया, श्री कँवरसेन मौर्य, श्री प्रभुदयाल जी रातावाल, श्री बिहारीलाल जागृत, श्री शम्‍भूदयाल गाडेगांवलिया, श्री कँवरलाल जेलिया, श्री जयचन्‍द्र मोहिल, श्री सूर्यमल मौर्य, श्री छोगालाल जी कँवरिया व श्री खुशहालचन्‍द्र आदि ने विशेष रूप से भाग लिया । त्‍यागमूर्ति स्‍वर्गीय स्‍वामी आत्‍माराम 'लक्ष्‍य' व्‍याकरणभूषण की पुण्‍य स्‍मृति में रींगस में 'लक्ष्‍य' छात्रावास की स्‍थापना की गई । महासभा अध्‍यक्ष ने इस शुभ कार्य की प्रशंसा की एवं महासभा की ओर से सहायता का आश्‍वासन दिया और दिल्‍ली प्रान्‍तीय रैगर पंचायत के अध्‍यक्ष चौ. पदमसिंह सक्‍करवाल ने भी दिल्‍ली की ओर से पूर्ण सहयोग देने का वचन दिया ।

 

 

(साभार- अखिल भारतीय रैगर महासभा संक्षिप्‍त कार्य विवरण पत्रिका : 1945-1964)

 

 

 

 

 

 

 

पेज की दर्शक संख्या : 1654