Raigar Community Website Admin Brajesh Hanjavliya, Brajesh Arya, Raigar Samaj Website Sanchalak Brajesh Hanjavliya
Matrimonial Website Link
Website Map

Website Visitors Counter


Like Us on Facebook

रैगर समाज समाचार पट्ल

रैगर समाज के गौरव अनिल कुमार अकरनिया ITBP में कमांडेंट बने 26-08-2017

दिल्ली, (रघुबीर सिंह गाड़ेगाँवलिया) । महानिदेशालय भारत-तिब्बत सीमा पुलिस, गृह मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जारी आधिकारिक आदेश के मुताबिक डिप्टी कमांडेंट अनिल कुमार अकरनिया को कमांडेंट पद पर पद्दोन्नत किया गया है । सोमवार को डिप्टी कमांडेंट अनिल कुमार अकरनिया के सीने पर एक और तमगा जुड़ गया, उनकी इस सफलता से उनके परिवार और समस्त रैगर समाज में खुशी का माहौल है। मन में विश्वास और कुछ पाने की ललक ज़िंदा हो तो कुछ भी का मुश्किल नही होता है जी हाँ इसी बात को सच कर दिखाया है दिल्ली के निवासी और रैगर समाज के गौरव अनिल कुमार अकरनिया ने लग्न व मेहनत करते हुए अपने लक्ष्य कमांडेंट पद को प्राप्त किया। कमांडेंट अनिल कुमार अकरनिया जितने अपराधियों के प्रति शख्त है उतने ही समाज के प्रति नर्म भी है । पिछले महीने ही उनके नेतृत्व में आईटीबीपी की टीम ने श्री अमरनाथ यात्रा सुरक्षा डियूटी के दौरान अपनी जिम्मेदारी का बेहतर तरीके से निर्वहन किया । आईटीबीपी के जवानों और अधिकारियों की नियुक्ति संवेदनशील स्थानों पर होती है।

श्रीमती कन्या देवी रैगर को न्याय दिलवाने एवं आरोपियों को गिफ्तार करवाने के लिए महासभा का ज्ञापन । 03-08-2017

जयपुर: श्रीमती कन्या देवी रैगर पत्नी स्वर्गीय छितर मल रैगर निवासी कादेड़ा थाना केकडी को डायन बताकर बहुत ही दर्दनाक यातनायें देकर मार डाला ।जिस पर गांव के पंचों द्वारा दोषियों को गायों को चारा डालने और पुष्कर में स्नान करने का दंड देकर दोष मुक्त कर दिया । गौरतलब है कि समाचार पत्रिकाओं में छपी खबर के अनुसार दिनांक 3 अगस्त 2017को श्रीमती कन्या देवी रैगर में डायन का साया बताकर उसको जंजीरों से पीटा गया, आग के अंगारों से दागा गया, गंदी नाली का पानी पिलाया गया यहां तक कि मल-मूत्र भी उसको पीने के लिए मजबूर किया गया। इन सब यातनाओं को कन्या देवी रहकर सहन नहीं कर पाई और दिनांक 4 अगस्त 2017 को कन्या देवी रैगर ने दम तोड़ दिया । जिसपर गांव के ही पंचो ने मामले को दबा कर रफा-दफा कर दिया । लेकिन शाहपुरा निवासी महादेव रैगर ने चाइल्ड लाइन अजमेर को सूचित कर पूरे मामले से अवगत कराया । उसके बाद चाइल्डलाइन द्वारा पुलिस थाना केकडी में महादेव नगर के नाम से एक रिपोर्ट दी गई। जिस पर पुलिस द्वारा अभी जांच करने की बात कह रही है ।लेकिन पुलिस अभी तक किसी के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं किया है । ऐसे संवेदनशील मामले में भी पुलिस की लापरवाही एक प्रश्न वाचक चिन्ह खड़ा करती है ।क्या पुलिस का खुफिया तंत्र या सूचना विभाग इतना कमजोर है की क्षेत्र में इतनी बड़ी घटना होने के बावजूद भी पुलिस को इसकी जानकारी नहीं मिली ।यह बेहद ही सोचनीय विषय है । अखिल भारतीय रैगर महासभा पंजी के राष्ट्रीय प्रचार - प्रसार सचिव मुकेश कुमार गाडेगावलिया ने बताया कि अखिल भारतीय रैगर महासभा पंजी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भँवर लाल खटनावलिया से नि आई ए एस ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए इस पर कार्यवाही कर रहा है। और इसके लिए संस्थान के पदाधिकारी जयपुर में महिला आयोग राजस्थान, अनुसूचित जाति आयोग, राजस्थान मानवाधिकार आयोग राजस्थान ,राजस्थान की महिला मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को ज्ञापन प्रस्तुत कर मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग करता है और दोषियों को शीघ्र गिरफ्तार कर ऐसी घटनाओं की दुबारा पुनरावृति नहीं हो इसके लिए ठोस कदम उठाने की मांग करता है ।

प्रमुख समाजसेवी भगतजी श्री उगमाराम गाड़ेगावलिया का निधन ,समाज को अपूरणीय क्षति । 01-05-2017

मोहन लाल मौर्य सह संपादक चतरपुरा अलवर -- जयपुर। जिले के बोराज निवासी भगतजी के नाम से विख्यात 75 वर्षीय श्री उगमाराम गाड़ेगावलिया का एक मई को प्रातः 4:30 बजे आकस्मिक निधन हो गया। यह अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गए है। श्री उगमाराम जी के पिता जी श्री मंगल राम जी इनके बाल्य काल मे मात्र 5 वर्ष में ही मृत्यु होगई थी आप 6 भाई बहिन थे आप पढ़ाई में होशियार थे । आप की शिक्षा में गहरी रुचि थी गांव की आबादी कम होने से स्कूल बोराज के जोड़ला मंदिरों में प्राथमिक शिक्षा ग्रहण की घर की आर्थिक स्थिति कमजोर होने से आगे स्कूल नहीं जा पाये । भजन कीर्तन साधु-संतों के प्रति आपका आकर्षण बढ़ा खेती का काम आप करने लगे आप संतों की शरण में जाने के कारण गीता रामायण सहित अन्य उपन्यास पढ़ने की रूचि बढ़ने लगी आप 16 साल के थे जब मूलचंद जी जलुथरिया ( पोली वाले ) घाट गेट जयपुर निवासी की बड़ी पुत्री डाला देवी के साथ में आपका विवाह संपन्न हुआ । आपके एक पुत्र दिनेश हुआ उसकी मृत्यु हो गई उसके पश्चात आप की धर्मपत्नी डाला देवी का भी स्वर्गवास हो गया । आपकी घाटगेट जयपुर में ही पुनः शादी श्री लक्ष्मण जी जाबडोलिया की बड़ी पुत्री पार्वती देवी के साथ में संपन्न हुआ । आपकी पत्नी भी धार्मिक प्रवृत्ति की है आप दोनों ही आस्था के प्रति विशेष रुचि रखते थे । आप 18 वर्ष की आयु से भजन-कीर्तन करने में मशगूल हो गए । भजन-कीर्तन के दौरान ही यह संत देवादासजी महाराज की शरण में चले गए। आप संत प्रतापदासजी महाराज के शिष्य बनकर समाज उत्थान में अग्रहणी रहे इनके आशीर्वाद से उगमाराम गाड़ेगावलिया से भगतजी नाम से विख्यात हो गए। आप किशोर अवस्था मे यह गांव-गांव जाकर भजन-कीर्तन के माध्यम से सामाजिक रवायत को एक सूत्र में पिरोए रखने पर जोर दिया करते थे। आप सत्संगों भजनों के मध्य से कुरूतियो ओर शिक्षा पर जोर देते रहे ।अपने आस-पास के इलाके में जहां-कहीं भी सतसंग की भनक लग जाती थी। यह वहीं पहुंच जाते थे। यानी के सतसंग के प्रति इनका अगाथ प्रेम था। ग्राम पंचायत बोराज में वार्ड पंच भी रहे। आप छुआ छूत विरोधी रहे गांव ही नही आस पास के गांवों में छुआ छूत चरमसीमा पर होने के कारण समाज को न्याय दिलवाने के लिए हमेशा आगे रहे आपके गांव बोराज में छुआछूत चरमसीमा प्रति दलित समाज को होटल पर चाय नहीं मिलती थी दुकानों पर नाई बाल नहीं काटते थे तथा घोड़ी पर बैठना वर्जित था आप ही पहले ऐसे व्यक्ति थे जो दलित समाज में आपने होटल पर चाय लेने , बाल कटवाने के लिए अग्रहणी रहकर दलित उत्थान में काम किया । रैगर समाज के दूल्हों की घोड़ी पर बैठ कर निकासी नही निकलते थे जिन्होंने अग्रहणी रहकर दलित समाज के लिए सविभिमान की लड़ाई लड़ी । आपको आस पड़ोस के गांव ही नहीं दूदू ,सांभर ,चाकसू ,झोटवाड़ा पंचायत समितियो मैं आप भगत जी के नाम से विख्यात है आप सामाजिक पंच पंचायतो के माध्यम से समाज में रूढ़िवादी कुरीतियों को मिटाने पर बहुत बल दिया करते थे । आपके अनेक कार्य रैगर समाज के लिए गौरव की बात है आप मृत्यु भोज के कठोर विरोधी थे आप के ही अथक प्रयासों से 1997 में बोराज ग्राम में मृत्यु भोज बंद करवाया । फिजूलखर्ची पर रोक लगाए जिससे रैगर समाज के कुछ लोग नाराज हो गए और उन्होंने अपना कार्यक्रम जारी रखे । मृत्यु भोज बन्द करने पर लोगों ने निंदा की समय के अनुसार उन लोगों को भी आपकी बात माननी पड़ी और मृत्यु भोज बंद करना पड़ा फिजूलखर्ची पर आप ने रोक लगाने के लिए अनेक कार्य किए , बोराज ठाकुर सहित बोराज सरपंच को समाज से छुआ छूत करने पर जेल की हवा खिलाने में पीछे नही रहे उन्हें आप को जान से मारने का कई बार प्रयास किया । आप किशोर अवस्था से ही सुबह 4 बजे उठकर पूजा पाठ करने में अधिकांश समय लीन रहते थे । श्री उगमाराम गाड़ेगावलिया जी : गाड़ेगावलिया टाईम्स : , एवं रघुवंशी रक्षक पत्रिका के संस्थापक थे । श्री उगमाराम जी प्रमुख समाज सेवी एवं रैगर समाज की लोकप्रिय पाक्षिक पत्रिका रघुवंशी रक्षक पत्रिका के सम्पादक मुकेश कुमार जी के पिताजी है। उगमारामजी के तीन पुत्र व दो पुत्रियां सहित पोता-पोती,नवासा-नवासी मौजूद है। इनके ज्येष्ठ पुत्र मुकेश कुमार गाड़ेगावलिया, इनसे छोटे मोहनलाल गाड़ेगावलिया,व सबसे छोटे रविकुमार गाड़ेगावलिया है। बड़ी बेटी मूंज देवी और छोटी बेटी सम्पति देवी है। एक मई को जैसे ही लोगों को इनके निधन का समाचार मिला तो लोग हजारों की तादाद में अंतिम यात्रा में शामिल हुए और शोक संतप्त परिवार को संवेदना प्रकट कर ढांढ़स बंधाया। आप के निधन के समाचार सुनने के बाद पूरे गांव में शोक की लहर दौड़ गई और लोगों का जमावड़ा आपके घर पर जम गया लोगों ने दिल से आप को श्रद्धांजलि दी रैगर समाज ही नहीं अपितु अन्य समाजों के लोगों ने एक समाज और आज का मानव पटेल समाज सेवी भक्त आदमी को दिया समाज के लिए आप प्रेरणादायक भगत जी के नाम से जाने पहचाने गए हैं और जाने पहचान जाएंगे श्री उगमा राम जी गाड़ेगावलिया को पूरा बोराज के लोगोँ ने नमः आँखों से अंतिम विदाई दी । रैगर समाज ने सच्चे समाज सेवी को खो दिया । इनकी पूर्ति करना सम्भव नही है ।

रैगर समाज को एक सूत्र में बंधना होगा - खटनावलिया 10-02-2017

गुजरात गाँधी धाम में रैगर समाज के 14 जोडे परिणय सूत्र में बंधे ----------------------- गुजरात - गाँधी धाम में आज 09 फरवरी 2017 को रैगर समाज का प्रथम सामूहिक विवाह समारोह आयोजित किया गया। समारोह में 14 जोडे परिणय सूत्र में बंधे। समारोह के मुख्य अतिथि श्री भंवर लाल खटनावलिया जी (पूर्व आई. ऐ. एस.) थे, विशिष्ट अतिथियों में श्री प्रकाश चन्द्र चौहान (आयकर अधिकारी), श्री गिरधारी लाल दोलिया अध्यक्ष रेगर समाज चाणक्यपुरी अहमदाबाद, श्री जुगल किशोर मौर्य राष्ट्रीय महासचिव, श्री कन्हैया लाल बारोलिया राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं गुजरात प्रभारी, श्री मुकेश गाडेगावलिया एवं श्री उमेश पीपलीवाल राष्ट्रीय प्रचार एवं प्रसार सचिव, श्री मोहन लाल कुरडिया राष्ट्रीप कार्यकारिणी सदस्य, श्री ताराचन्द जाटौल अध्यक् राजस्थान जटिया(रेगर) विकास समिति , श्री छोटो राम जाटौल उपाध्यक्ष राजस्थान जटिया (रेगर)समाज विकास समिति , उपस्थित थे। मुख्य अतिथि श्री भंवर लाल खटनावलिया जी ने अपने उद्घबोघन में बताया कि रैगर समाज का राष्ट्रीय स्तर पर दो बडे सम्मेलन, प्रथम दिल्ली में नवम्बर, 2017 में एंव द्वितीय जयपुर में अप्रेल, 2018 में आयोजित होना प्रस्तावित है,सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य समाज में राजनैतिक चेतना लाना हैं, एवं समाज में आज के परिप्रेक्ष में शिक्षा की अनिवार्यता पर प्रकाश डाला ၊ समारोह में राष्ट्रीय महासचिव जुगल किशोर मौर्य , राष्ट्रिय प्रचार प्रसार सचिव मुकेश कुमार गाड़ेगावलिया ने भी समाज को सम्बोधित किया । समारोह में सभी अतिथियों का माला एवं साफा बन्दवाकर स्वागत किया । इस अवसर पर हजारों की सँख्या में समाज बन्धुओ ने भाग लिए महिलाओं ने बढ़ चढ़कर भाग लिया । मंच संचालन आदित्य मौर्य पाली ने किया ।

गुजरात के गांधीधाम शहर मे पहला रैगर समाज सामूहिक विवाह सम्मेलन 9 फरवरी 2017 30-01-2017

जरात के गांधीधाम शहर मे पहला रैगर समाज सामूहिक विवाह सम्मेलन 9 फरवरी 2017 संवत २०७३ माघ सूद तेरस , गुरुवार के शुभ अवसर पर होने वाला है इस सामूहिक विवाह सम्मेलन में श्री के जी वनजारा साहेब, श्री शंकर लाल जी नारोलिया विशिष्ट अतिथि होंगे, स्थान श्री लीलाशाह कुटिया, आदिपूर रेल्वे स्टेशन के सामने, गांधीधाम में आयोजित होगा । आयोजक श्री रैगर समाज सामूहिक विवाह समिती और आयोजन समिति सदस्यो ने बताया की पहले सामुहिक विवाह सम्मेलन के आयोजन की तैयारी पूर्ण हो चुकी है । आयोजित विवाह सम्मेलन में 14 जोडों का विवाह हिन्दू रैगर समाज रिती रिवाज से सम्पन्न करवाया जाएगा । आयोजन मे श्री बी ल नवल राष्ट्रीय अध्यक्ष और अतिथि आदि ने विवाह सम्मेलन को सफल बनाने की अपील की है । आयोजक समिती के सदस्य श्री जगदीश मोरिया ने यह जानकरी दी है

Go to page no. : 12345

Click Here for UpComing Event (रैगर समाज के आगामी कार्यक्रम)

पेज की दर्शक संख्या : 1571