Raigar Website menu
Back
Regar Samaj Hedding

      वेणाजी नरवर (किशनगढ़) के रहने वाले थे । सम्‍वत् 1925 में राजस्‍थान में भयंकर अकाल पड़ा । वेणाजी ने जाति , वर्ग तथा धर्म का भेद किये बिना गरीबों में आनाज, कपड़ा तथा पैसा बांटकर हजारों लोगों की जाने बचाई थी । वेणाजी दयालू ओर उदार हृदय के व्‍यक्ति थे ।

 

(साभार- चन्‍दनमल नवल कृत 'रैगर जाति : इतिहास एवं संस्‍कृति')

 

पेज की दर्शक संख्या : 2332